Saturday, January 5, 2008

थ्री चीयर्स टू किरन बेदी

कुछ दिनों पहले भारत की पहली महिला आई पी एस होने का गौरव पाने वाली किरन बेदी ने स्वेच्छिक अवकाश (VRS ) ले लिया. बहुत पुरानी बात नहीं है, जब उन्हें दिल्ली का पुलिस कमिश्नर न बनाकर उनसे एक कनिष्ठ अधिकारी को यह पद दे दिया गया था. सुश्री किरन बेदी ने उस समय ही यह लगभग स्पष्ट कर दिया था कि अब इस घोर उपेक्षा के बाद उन्हें सेवा में अधिक दिलचस्पी नहीं रह गयी है. (केन्द्रीय गृह मंत्रालय के इस पक्ष्पाती रवैये पर मेरी पोस्ट यहां देखें)

VRS के बाद अब किरन ने एक और सराहनीय कदम उठाया है. उनके द्वारा पहले से ही चलायी जा रही स्वयंसेवी संस्था के तत्वावधान में उन्होने ‘मिशन सेफर इंडिया’ ( Mission Safer India ) नामक सेवा प्रारम्भ की है. यह सेवा उन सभी व्यक्तियों की मदद करेगी जिन्हे पुलिस से न्याय नही मिला है, अथवा जिनकी शिकायतों पर पुलिस ने गौर नही किया है. निश्चय ही यह एक सराहनीय प्रयास है जिससे हज़ारों लोग लाभांवित होंगे. इस संस्था द्वारा पहले से ही जेल सुधार, कैदियॉं के बेसहारा बच्चों के लिये मदद, महिला सशक्तीकरण जैसे नेक कार्य किये जाते रहे है ज़ाहिर है किरन बेदी जैसे कुशल प्रशासक के नेतृत्व में ये सभी गतिविधियां समाज सुधार में अपना महत्वपूर्ण योगदान कर पायेंगी. हम सभी को ऐसे कार्य में इस प्रकार की संस्थाओं की भरपूर मदद करनी चाहिये. विस्तृत जानकारी के लिये देखें www.indiavisionfoundatio.org तथा www.saferindia.com
किरन बेदी का रेडिओ पर एक chat show भी आता है,जिसमें वह इस प्रकार की सलाह देती हैं.हालांकि उसमें अनेक कमियां भी है, परंतु फिर भी ऐसे कार्यक्रम कुछ लोगों को तो रास्ता दिखाते ही हैं,जिन्हें इसकी सख्त ज़रूरत है.

1 comment:

Vivek Rastogi said...

जी हाँ आपने सच कहा, मैंने भी किरण जी का एफ़ एम पर प्रोग्राम सुना व लगा कि वाकई वो पुलिस को आईना देखा सकती हैं।